Learn All About English Grammar : Chapter-1

English Grammar


Learn All About English Grammar:

Spoken English grammar में आपको उन्हीं Chapters को सिखाया जाएगा जो अंग्रेजी बोलने में अतिआवश्यक होते हैं ।
                
                       CHAPTER - 1

इस Chapter में आप सबसे पहले सीखेंगे कि ' Can/Could/ Could have / Should / Should have / Must / Must have / May / May have / Would / Would have / Need / Needed / Dare / Dared  का प्रयोग किस तरह के वाक्य को बोलने में करतें ।

इससे पहले कि आप इनके प्रयोग से वाक्य बोलना और लिखना सीखें, इन सभी शब्दों का अर्थ आपको पता होना चाहिए :-


Can ( केन् ) :-. सकता है / सकती है / सकते हैं / सकते हो / सकता हूँ ।

Could ( कुड् ) :- सका / सकी / सके

Could have ( कुड् हैव् ) :- सकता था / सकती थी / सकते थे

[ Can / Could / Could have का प्रयोग हम इस तरह के वाक्यों को बोलने में करतें जिससे ताकत , क्षमता और योग्यता का भाव मिले ] जैसे :-

(1)  मैं इस बॉक्स को उठा सकता हूँ ।
  ( इस वाक्य से हमें ताकत का भाव मिल रहा है)

(2) वह मुझे अंग्रेजी पढा़ सकता है ।
( इस वाक्य से योग्यता का भाव मिल रहा है )

(3) मैं इस नदी को पार कर सकता हूँ ।
( इस वाक्य से हमें क्षमता का भाव मिल रहा है)

इस तरह के वाक्य को अंग्रेजी में बोलने के लिए हम इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करतें हैं  :-

Structure :-
[ Subject + can / could + (not) + verb का पहला रुप + Object + Other Word ]

-> मैं इस बॉक्स को उठा सकता हूँ ।
    I can lift this box. 

-> वह मुझे अंग्रेजी पढा़ सकता है ।
    He can teach me English.

-> मैं इस नदी को पार कर सकता हूँ ।
   I can cross this river .

->  वह यहाँ नहीं आ सका ।
     He could ( सका ) not come here.

->  मैं उसे बता नहीं सका ।
      I could not tell him

( अब आप could have का प्रयोग करके वाक्य कैसे बोलेंगे ? )

Structure :-
[ Subject + could + (not) + have + Verb का तीसरा रुप + object + Other Word ]

->  तुम यह काम कर सकते थे ।
     You could have ( सकते थे) done ( do का तीसरा रुप) this work.



->  तुम यहाँ आ सकते थे ।
    You could have come here.

मुझे उम्मीद है आपको समझ में आ गया होगा कि Can / Could / Could have का प्रयोग कैसे और किस तरह के वाक्य बोलने में करतें हैं।

चलिए अब हम सीखते हैं कि ' can , could और could have ' के प्रयोग से किसी से प्रश्न कैसे पूछते हैं ? हम किसी से दो तरह के प्रश्न करते हैं; पहला ' हाँ ' या ' ना ' में जवाब देने वाला प्रश्न करते हैं ;
जैसे :-

(1)  क्या आप इस नदी को पार कर सकते हैं ?
(2) क्या वह घर नहीं जा सका ?
(3) क्या तुम इस बारे कुछ कर सकते थे ?
[ हाँ ( yes )/ ना ( No ) वाले प्रश्न ' क्या से शुरु होते हैं जैसा कि ऊपर दिए गए ' क्या ' से शुरु है । ]
इस तरह के प्रश्न को पूछने के लिए इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करते हैं :-
Structure :-
Can / Could + subject + [ not ] + verb का पहला रुप + Object + other word + ? )
(1) क्या आप इस नदी को पार कर सकते हैं ?
       Can you cross this river ?
(2) क्या वह घर नहीं जा सका ?
     Could he not go home ?
' could have ' का प्रयोग इस स्ट्रक्चर के अनुसार करें :-
[ Could + subject + ( not ) + have + Verb का तीसरा रुप + object + other word + ? ]
(3) क्या तुम इस बारे कुछ कर सकते थे ?
    Could you have done something about it ?
(दूसरे प्रकार का प्रश्न जो होता है ; उसमें प्रश्नवाचक शब्द होता है जैसे :-
What - (वॉट्)  क्या
Where - (वेयर्) कहाँ
Why - (वाय्)  क्यों
Who - (हू). कौन
Whom - (हूम्). किससे / किसको / किसे
Whose - (हूज) किसका / किसकी
Which - (वीच्) कौन-सा / कौन-सी
When - (वेन्) कब
For what - (फॉर् वॉट्) किस लिए
इस स्ट्रक्चर के प्रयोग से प्रश्नवाचक शब्द का प्रयोग करके अंग्रेजी में प्रश्न कैसे पूछें :-
Structure :-
[ W. H. Word ( प्रश्नवाचक शब्द ) + can / could + subject + ( not ) + verb का पहला रुप + object + other word + ? ]
(1) मैं आप के लिए क्या कर सकता हूँ ?
     What can I do for you ?
(2) तुम वहाँ क्यों नहीं जा सके ?
    Why could you not go there ?
(3)  तुम यह काम क्यों नहीं कर सके ?
    Why could you not do this work ?
( सभी वाक्य में प्रश्नवाचक शब्द सबसे पहले बोला गया है ; उसके बाद ' can / could ' भाव के अनुसार ; फिर आप ' Subject + (not) + verb + object + other word )
'Could have ' के प्रयोग से इस प्रकार के प्रश्न करते हैं जैसे :-
(1) तुम यह काम क्यों नहीं कर सकते थे ?
   Why could you not have done this work ?
(2) वह वहाँ किसके साथ जा सकता था ?
    With whom could he have gone there ?

      Use of ' Should / Should have '


' Should ( चाहिए ) / Should have ( चाहिए था ) ' का प्रयोग ऊपर बताए गए  ' Can / Could / Could have ' के स्ट्रक्चर के अनुसार ही प्रयोग किया जाएगा जैसे :-
Structure :-
Subject + should + ( not ) + verb का पहला रुप + object + other word ]

-> मुझे अंग्रेजी सीखना चाहिए ।
    I should learn English.

-> उसे वहाँ नहीं जाना चाहिए ।
    He should not go there.

-> क्या मुझे अंग्रेजी बोलनी चाहिए ?
   Should I speak English ?

( इस वाक्य में should का प्रयोग सबसे पहले क्यों किया गया है ? क्योंकि यह Yes / No type जैसा है । आप तो जानते हैं कि ' Yes / No type वाले वाक्य कि शुरुआत Helping verb से होता है इसलिए ' should ' का प्रयोग सबसे पहले हो रहा है । )

-> क्या मुझे उसे यहाँ बुलाना चाहिए ?
   Should I call him ( उसे ) here ?

-> क्या मुझे घर चले जाना चाहिए ?
   Should I go home ?

( अगर इसी वाक्य में प्रश्नवाचक शब्द आ जाए तो उसे ' Should ' के पहले लिखेंगे जैसा कि नीचे वाक्य में दिखाया जा रहा है )

-> मुझे वहाँ क्यों नहीं जाना चाहिए ?
   Why should I not go there ?

-> उसे क्या करना चाहिए ?
   What should he do ?

-> मुझे कहाँ जाना चाहिए ?
   Where should I go ?

( Should have [ चाहिए था ] का प्रयोग ' Could have ' की तरह होगा ; बस ' could ' की जगह पर ' should ' का प्रयोग कर दें ; चलिए कुछ वाक्य दिखते हैं )

-> मुझे वहाँ नहीं जाना चाहिए था ।
   I should have not gone there.

-> तुम्हें यह परीक्षा नहीं देना चाहिए था ।
    You should not have appeared in this examination.

यदि वाक्य क्या से शुरु हो तो आप ' should ' को ' subject ' के पहले रख दें । जैसे :-

->. क्या आपको यहाँ नहीं आना चाहिए था ?
   Should you not have come here ?

-> क्या मुझे घर चले जाना चाहिए था ?
   Should I have gone home ?


यदि वाक्य में प्रश्नवाचक शब्द आ जाए तो आप उसे Should के पहले प्रयोग करें जैसे :-

->. मुझे यहाँ क्यों आना चाहिए था ?
    Why should I have come here ?

-> उसे कहाँ जाना चाहिए था
   Where should he have gone ?

     

          Use of ' Must / Must have '

                   
( ' Must / Must have ' का प्रयोग भी ठीक उसी तरह से किया जाता जिस तरह से आपने ' Should / Should have ' का किया; बस इसका अर्थ बदल जाएगा ' Must ' का प्रयोग ' करना ही चाहिए / अवश्य करना चाहिए / जरुर करना चाहिए ' के अर्थ में करते हैं जबकि ' Must have ' का प्रयोग ' करना ही चाहिए था / अवश्य करना चाहिए था / जरुर करना चाहिए था ' के अर्थ में करते हैं । )



Must :- करना ही चाहिए / अवश्य करना चाहिए / जरुर करना चाहिए

-> तुम्हें वहाँ जाना ही चाहिए ।
   You must go there.

( Should में बताए गए स्ट्रक्चर का प्रयोग इसमें भी करेंगे )

-> उसे यह जॉब अवश्य करना चाहिए ।
   He must do this job.

-> क्या मुझे घर अवश्य जाना चाहिए ?
    Must I go home ?

-> क्या तुम्हें यहाँ जरुर रुकना चाहिए ?
   Must you stay here ?

-> मुझे यह काम अवश्य क्यों करना चाहिए ?
   Why must I do this work ?

उसे यह बाईक अवश्य क्यों चलानी चाहिए ?

Why must he ride this bike ?

Must have :- करना ही चाहिए था / अवश्य करना चाहिए था / जरुर करना चाहिए था

-> मुझे यहाँ से चले जाना ही चाहिए था ।
   I must have gone from here .

-> उसे यह जॉब अवश्य करनी चाहिए थी ।
   He must have done this job .

-> क्या मुझे घर अवश्य जाना ही चाहिए था ?
   Must I have gone home

-> क्या उसे इस बारे में कुछ करना ही चाहिए था ?
Must he have done something about it ?

-> उसे यहाँ अवश्य क्यों रुकना चाहिए था ?
  Why must he have stayed here ?

-> मुझे इस बारे में अवश्य क्या करना चाहिए था ?
What must I have done about it ?

( मुझे उम्मीद है कि आप ' must / must have ' का प्रयोग समझ गए होंगे यदि नहीं तो आप ' should / should have ' के स्ट्रक्चर को अच्छे से समझें । )
        

          Use of ' May / May have '

                      
  May का प्रयोग संभावना को दर्शाने के लिए " सकता है/ सकती है / सकते हैं / सकता हूँ " के भाव में किया जाता है । इसका अंग्रेजी वाक्य बनाने के लिए इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करें :-

[ Subj + may + ( not ) + Verb का पहला रुप + Object + Other word ]

--> वह यहाँ आ सकता है । ( या ) उसकी यहाँ आने की संभावना है ।
( He may come here. )

--> तुम इस काम को कर सकते हो । ( या ) तुम्हारी इस काम को करने की संभावना है ।

( You may do this work. )

--> क्या पिता जी ऑफिस से आ सकते हैं ?
    ( May father come from office ? )

{ यह वाक्य ' Yes/No ' type question है इसलिए ' May ' का प्रयोग ' Subject ' के पहले किया गया है । इस तरह के प्रश्न वाले वाक्य को सीखने के लिए ऊपर बताए गए ' Can / Could ' के प्रयोग को अच्छी तरह समझें }

--> तुम यह जॉब क्यों नहीं कर सकते हो ? ( या ) तुम्हारी यह जॉब करने की संभावना क्यों नहीं है ?

( Why may you not do this job ? )

{ इस वाक्य में आप देख सकते हैं ' May ' से पहले ' Why ' शब्द का प्रयोग हुआ है क्योंकि यह वाक्य ' W.H. word type है । सब कुछ ' Yes/No type ' जैसा होता है , बस वाक्य में आए ' प्रश्नवाचक शब्द को ' May ' से पहले रख दें । इसके Rule को सीखने के लिए ' Can / Could ' के प्रयोग को समझें । }

May have -->

May have का प्रयोग संभावना को दर्शाने के लिए " सकता था/ सकती थी / सकते थे   " के भाव में किया जाता है । इसका अंग्रेजी वाक्य बनाने के लिए इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करें :-

[ Subj + may + ( not ) + have + Verb का तीसरा रुप + Object + Other word ]

> वह यहाँ आ सकता था। ( या ) उसकी यहाँ आने की संभावना थी ।
( He may have come here. )

--> तुम इस काम को कर सकते थे। ( या ) तुम्हारी इस काम को करने की संभावना थी ।

( You may have done this work. )

--> क्या पिता जी ऑफिस से आ सकते थे ?
    ( May father have come from office ? )

{ यह वाक्य ' Yes/No ' type question है इसलिए ' May ' का प्रयोग ' Subject ' के पहले किया गया है । इस तरह के प्रश्न वाले वाक्य को सीखने के लिए ऊपर बताए गए ' Could have ' के प्रयोग को अच्छी तरह समझें }

--> तुम यह जॉब क्यों नहीं कर सकते थे ? ( या ) तुम्हारी यह जॉब करने की संभावना क्यों नहीं थी ?

( Why may you not have done this job ? )

{ इस वाक्य में आप देख सकते हैं ' May ' से पहले ' Why ' शब्द का प्रयोग हुआ है क्योंकि यह वाक्य ' W.H. word type है । सब कुछ ' Yes/No type ' जैसा होता है , बस वाक्य में आए ' प्रश्नवाचक शब्द को ' May ' से पहले रख दें । इसके Rule को सीखने के लिए ' Could have ' के प्रयोग को समझें । }

                Use of " Need "


"  Need का प्रयोग ' जरुरत और आवश्यकता ' के भाव मे करते हैं । ' Need ' का प्रयोग दो तरह से किया जाता है :-

(1) Helping verb ( सहायक क्रिया ) के रुप
      में ।
(2) Main verb ( मुख्य क्रिया ) के रुप में किया जाता है । "

" चलिए सीखते हैं कि ' Need ' का प्रयोग सहायक क्रिया के रुप में कैसे करते हैं :-

यदि आप वाक्य में ' need ' का प्रयोग सहायक क्रिया के रुप में ' Present tense ' में करते हैं तो ' Singular subject (या) Plural subject ' दोनो के साथ ' need not ' का प्रयोग करेंगे ; जैसे :-

Structure :- [ Subject ( Singular या Plural ) + need not + verb का पहला रुप + object + other word ]

--> उसे यहाँ जॉब करने की जरुरत नहीं है ।
     He need not do this job.

--> मुझे इस क्लास में बैठने की जरुरत नहीं है ।
     I need not sit in this class.

" यदि यही वाक्य ' Past tense ' में हो तो ' need not ' की जगह पर ' needed not ' का प्रयोग किया जाएगा ; जैसे :-

--> उसे यहाँ जॉब करने की जरुरत नहीं थी ।
     He needed not do this job.

-->मुझे इस क्लास में बैठने की जरुरत नहीं थी ।
    I needed not sit in this class.

" यदि यही वाक्य ' Yes / No type ' प्रश्नवाचक वाक्य हो जाये तो इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करेंगे :-

[ Need / Needed + subject + not + verb का पहला रुप + object + Other Word + ? ]

--> क्या उसे यहाँ जॉब करने की जरुरत नहीं थी ?
Needed he not do a job here ? (Past)

--> क्या मुझे घर जाने की आवश्यकता नहीं है ?
     ( Present )
Need I not go home ?

" यदि यही वाक्य ' W.H. word type ' प्रश्नवाचक वाक्य हो जाये तो आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है ; बस आप प्रश्नवाचक शब्द को ' Need / Needed ' के पहले कर दें, जैसे :-

-->उसे यहाँ जॉब करने की जरुरत क्यों नहीं है ?
    Why need he not do a job here ?

--> तुम्हें क्या करने की आवश्यकता नहीं है ?
    What need you not do ?

" चलिए अब सीखते ' Need ' का प्रयोग मुख्य क्रिया के रुप में कैसे करें । जब हम ' Need ' का प्रयोग मुख्य क्रिया के रुप करते हैं तो यह ' Subject और tense ' के अनुसार बदलता रहता है । इसके बाद ' Not ' का प्रयोग न होकर
' to ' का प्रयोग होता है जैसे :-

--> उसे यहाँ रुकने की जरुरत है ।
     He needs to stay here.

" यह वाक्य ' Present indefinite ' का है , इसलिए ' Singular subject ' के साथ ' need + s = needs ' का प्रयोग किया गया है । यदि ' Plural subject ' का प्रयोग होता तो ' needs ' की जगह पर ' need ' का प्रयोग किया जाएगा ।
अगर वाक्य ' Past tense ' में होता तो ' needed ' का प्रयोग किया जाता, जैसे :-

--> उसे यहाँ रुकने की जरुरत थी ।
    He needed to stay here.

" यदि वाक्य ' Yes/No type ' प्रश्नवाचक होगा तो आप इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करें :-

[ Do / Does / Did + subject + need + to + verb का पहला रुप + object + other word + ? ]

--> Do का प्रयोग ' Plural subject ' के साथ ' Present tense ' में जैसे :-

क्या आपको यहाँ जॉब करने की जरुरत है ?
( Do you need to do a job here ? )

--> Does का प्रयोग ' Singular subject ' के साथ ' present tense ' में करते हैं , जैसे :-

क्या उसे यह किताब खरीदने की आवश्यकता है ?
( Does he need to buy this book ? )

--> Did का प्रयोग ' Singular and Plural ' दोनों Subjects के साथ ' Past tense ' करते हैं , जैसे :-

क्या उसे यहाँ आने की आवश्यकता थी ?
( Did he need to come ? )

" यदि वाक्य ' W.H. word type ' प्रश्नवाचक हो तो आप ' do / does / did ' के पहले प्रश्नवाचक शब्द का प्रयोग करें ,जैसे :-

--> तुम्हें क्या खरीदने की आवश्यकता है ?
    ( What do you need to buy ? )

           

                    Use of " Dare "


" Dare का प्रयोग ' साहस और हिम्मत ' के भाव में करतें हैं ; इसका प्रयोग दो तरह से किया जाता है :-

( 1 ) Helping verb [ सहायक क्रिया ] - जब हम ' Dare ' का प्रयोग सहायक क्रिया के रुप में करते हैं तो इसके साथ ' not ' का प्रयोग होता है । ' Present tense ' में Singular या Plural दोनो कर्ता के साथ ' dare not ' का प्रयोग किया जाएगा, जैसे :-

--> मुझमें उससे बात करने की हिम्मत नहीं है ।
          ( I dare not talk to him . )

--> उसमें मेरी टीम मे खेलने की हिम्मत नहीं है ।
    ( He dare not play in my team . )

" अगर हिन्दी वाक्य की शुरुआत ' क्या ' से हो रही हो तो ' Dare ' का प्रयोग ' Subject ' के पहले कर देंगे, जैसे :-
--> क्या उसमे वहाँ जाने की हिम्मत नहीं है ?
       ( Dare he not go there ? )

--> क्या आपमें यहाँ अकेले रुकने की हिम्मत नहीं है ?
     ( Dare you not  stay here ? )

यदि हिन्दी वाक्य में प्रश्नवाचक शब्द ( कहाँ, कब, क्यों , कैसे ) बीच में आता है तो सबसे पहले उसकी अंग्रेजी लिखी जाएगी, जैसे :-

--> उसमें वहाँ जाने की हिम्मत क्यों नहीं है ?
    ( Why dare he not go there ? )

यदि ऊपर बताए गए सभी वाक्यों को ' Past tense ' में लिखना या बोलना हो तो ' dare ' की जगह पर ' dared ' का प्रयोग कर देंगे तो सभी वाक्य ' Past tense ' में हो जाएगा । "

चलिए अब ' Dare ' का प्रयोग ' Main verb ( मुख्य क्रिया ) ' के रुप में करना सीखते हैं ; जब आप ' Dare ' का प्रयोग ' Present tense ' में करते हैं तो Singular Subject के साथ ' dares ' जबकि ' Plural Subject ' के साथ ' dare ' का और ' Past tense ' में ' Singular या Plural दोनो Subject के साथ ' dared ' का प्रयोग किया जाएगा । ' not ' की जगह पर ' to ' का प्रयोग करते हैं जैसे : -

--> उसमें लिखने की हिम्मत है ।
    ( He dares to write. )

[ इस वाक्य में Singular Subject का प्रयोग हुआ है इसलिए dares + to का प्रयोग किया गया है । ]

--> मुझमें उसके सामने खड़े होने की हिम्मत है ।
    ( I dare to stand before him . )

[ इस वाक्य में Plural Subject का प्रयोग होने पर ' dare + to ' का प्रयोग किया गया है । ]

--> मुझमें चलने की हिम्मत थी ।
      ( I dared to walk. )

[ यह वाक्य ' Past tense ' का है इसलिए ' dared + to ' का प्रयोग किया गया है । ]



यदि आप ऊपर बताए गए सभी वाक्यों को प्रश्नवाचक वाक्य में बदलना सीखना चाहते हैं तो आप ऊपर Helping verb के प्रयोग में बताए गए प्रश्नवाचक वाक्यों को ध्यान से पढ़कर सीखें । Present tense में Singular Subject के साथ ' Dares ' जबकि Plural Subject के साथ ' Dare ' का और Past tense में दोनो कर्ता के ' dared ' का प्रयोग प्रश्नवाचक वाक्यों को बनाने में किया जाएगा और ' not ' की जगह पर ' to ' का प्रयोग करें ।

--> क्या उसमें डाँस करने की हिम्मत है ?
       ( Dares he to dance ? )

--> क्या तुममें अंग्रेजी बोलने की हिम्मत है ?
    ( Dare you to speak English ? )

--> क्या उसमें यह लेटर पढ़ने की हिम्मत थी ?
    ( Dared he to read this letter ? )
   

                      Use of '  It '


' It ' का प्रयोग ' समय ,  मौसम , दिन , तारीख , महीना , छोटे जानवर और निर्जीव वस्तु के लिए करते हैं ।

--> ' It ' के प्रयोग से अंग्रेजी में वाक्य बनाने के लिए इस स्ट्रक्चर का प्रयोग करें :-

It + is / was / may be / will be / should be + object + Other word ]

स्ट्रक्चर में दिए गए ' वर्ब बी ' का हिन्दी मतलब इस प्रकार है :- Is - है / Was - था, थी / May be - हो सकता है, हो सकती है / Will be - होगा, होगी / Should be - होना चाहिए, होनी चाहिए ।

चलिए ' It ' के प्रयोग से वाक्य बनाने हैं :-

समय ( Time ) :-

--> सात बज रहा है ।
    It is 7 O' clock.

--> साढ़े सात बज रहा है ।
    It is half past 7 O' clock.


मौसम ( Weather ) :-

--> बारीश हो रही है ।
   It is raining.

--> आज बहुत गर्मी है ।
   It is so hot today.

--> आज कोहरे का मौसम है ।
   It is the foggy weather today.

--> कल बहुत ठण्ड थी ।
    It was so cold yesterday.

--> बाहर चिलचिलाती धूप है ।
    It is the scorching heat outside.

--> अंधेरा हो रहा है ।
    It is getting dark.

--> सुबह हो गयी है ।
   It is morning.

--> शाम हो गयी है ।
   It is evening.

--> आज बहुत उमस है ।
   It is so sultry today.


  दिन ( Day ) :-

--> आज सोमवार है ।
   It is Monday today.

--> कल रविवार था ।
   It was Sunday yesterday.

--> परसो बुधवार होगा ।
    It will be Wednesday the day after tomorrow.


    तारीख ( Date ) :-

--> आज सोलह तारीख है ।
    It is the 16th date today.

--> कल पन्द्रह तारीख थी ।
    It was the 15th date yesterday.

--> परसो चौदह तारीख थी ।
   It was the 14th date the day before yesterday.

 महीना ( Month ) :-     

--> यह जनवरी का महीना है ।
   It is the month of January.

--> पीछला महीना दिसम्बर का था ।
   It was the last month of December.

--> अगला महीना फरवरी का होगा ।
   It will be the next month of February.


  छोटे जानवर ( Small animal ) :-

--> यह चूहा है ।
   It is a rat.

--> यह बिल्ली है ।
   It is a cat .

( इन दोनो वाक्यों में ' It ' की जगह पर ' This ' का प्रयोग किया जा सकता लेकिन तब जब संकेत किया जा रहा हो जबकि इन दोनो वाक्यों में ' It ' का प्रयोग परिचय कराने के लिए किया गया है । )

  निर्जीव वस्तु ( Nonliving thing ) :-

--> यह कुर्सी है ।
    It is a chair.

--> यह समाचार पत्र है ।
   It is a news paper.

--> यह कलम है ।
   It is a pen.

( इन सभी वाक्यों में वस्तुओं की पहचान कराई गयी है, यदि इनकी तरफ संकेत किया जाता तो ' It ' की जगह पर ' This ' का प्रयोग किया जाता । )

तो आप इस तरह से ' It ' के प्रयोग से वाक्य लिख और बोल सकते हैं । चलिए अब हम आगे सीखेंगे कि ' It ' के प्रयोग से प्रश्नवाचक वाक्य कैसे पूछोगे जाते हैं और कितने प्रकार के होते हैं :-
         

 Interrogative sentence(प्रश्नवाचक वाक्य ) 


प्रश्नवाचक वाक्य दो प्रकार के होते हैं :-

(1) Yes / No type questions -
    ( इसके हिन्दी वाक्य ' क्या से शुरु होते हैं और प्रश्न का जवाब ' हाँ / ना ' में दिया जाता है । इसके अंग्रेजी वाक्य की बात करें तो इसकी शुरुआत ' Helping verb [ सहायक क्रिया ] से होती है, उसके बाद ' कर्ता ' रखते हैं ; कर्ता के बाद यदि वाक्य नकारात्मक है तो ' not ' का प्रयोग कर देते हैं यदि नहीं है तो ' क्रिया ' के बाद ' कर्म ' और कर्म के बाद बचे हुए शब्दों को लिख देते हैं । )

चलिए स्ट्रक्चर के माध्यम से सीखते हैं :-

[ Is / Was + it + ( not ) + object + other word + ? )

इस स्ट्रक्चर में ' not ' के बाद  आपको ' क्रिया नहीं दिख रही है क्योंकि इस स्ट्रक्चर में ' is / was ' दोनों क्रिया का कार्य कर रहा है ।

Example :-

--> क्या बाहर बहुत गर्मी है ?
    Is it so hot outside ?

--> क्या आज सोमवार है ?
   Is it Monday today ?

--> क्या कल कोहरे का मौसम था?
    Was it the foggy weather yesterday ?

तो आप इस तरह से ' it ' के प्रयोग में प्रश्नवाचक वाक्य बनाने सकते हैं ।

(2) W.H. word type questions :-

यदि वाक्य ' W.H. word type हो तो आपको करना कुछ नहीं है ; बस आप ' Is / was ' के पहले ' प्रश्नवाचक शब्द का प्रयोग करें :-

[ W.H. word ( प्रश्नवाचक शब्द ) + is / was + it + ( not ) + object + Other word + ? ]

--> उस कमरे में कितनी गर्मी है ?
   How much hot is it in that room ?

--> आज कौन - या दिन है ?
   What day is it today ?

तो आप ' it ' के प्रयोग में इस तरह से W.H. word type questions बना सकते हैं ।

Read Next Post :
Learn How To Watch The Time In English

                   




  


                   
  
Learn All About English Grammar : Chapter-1 Learn All About English Grammar : Chapter-1 Reviewed by Angreji Masterji Varanasi on June 10, 2018 Rating: 5
Powered by Blogger.